उत्तर प्रदेशलखनऊसत्ता-सियासत

अखिलेश ने किया जनवादी पार्टी कार्यालय का उद़्घाटन, बोले- सपा से गठबंधन करने वाले भाजपा से सावधान रहें

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को लखनऊ के गोमतीनगर स्थित जनवादी पार्टी सोशलिस्ट के कार्यालय का उद्घाटन किया। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि जनवादी पार्टी ने लगातार लोगों को जोड़ने का काम किया। सपा के साथ आकर पार्टी ने दलित, पिछड़े सभी को साथ लेकर चलने का काम किया है। वहीं अखिलेश यादव से जब पूछा गया कि उनका मोहम्‍मद अली जिन्‍ना पर बयान किस संदर्भ में है? उन्‍होंने कहा, “मैं तो कहूंगा कि दोबारा किताबें पढ़ लें।” बता दें अखिलेश के इस बयान को लेकर बीजेपी लगातार हमलावर है। इस दौरान शिवपाल यादव की पार्टी पीएसपी लोहिया के साथ सपा के गठबंधन पर अखिलेश यादव ने कहा कि चाचा को ज्यादा से ज्यादा सम्मान दिया जाएगा।

अखिलेश ने यह बयान 31 अक्‍टूबर को हरदोई में दिया था। तब से इस पर बीजेपी अखिलेश को घेरती रही है। शनिवार को जब मीडिया ने अखिलेश इसे इस पर स्‍पष्‍टीकरण मांगते हुए कहा कि उनके इस बयान का संदर्भ क्‍या था, तो इसके जवाब में सफाई देने की जगह अखिलेश बोले, ‘मैं तो कहूंगा लोगों को दोबारा इतिहास की किताबें पढ़नी चाहिए।’कार्यक्रम के दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी बड़ा प्रदेश है। जनगणना होने जा रही है। सभी जातियों को हक और सम्मान देने का काम किया जाएगा। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी केवल स्वार्थ के लिए जातियों में झगड़ा करवाती है। आज महंगाई कहां पहुंची हुई है। डीजल-पेट्रोल के दाम कम कर जनता को भ्रमित करने में लगे हैं, सरकार को गैस के दाम नजर नहीं आ रहे हैं।

इस दौरान आरएलडी से गठबंधन को लेकर सपा प्रमुख ने कहा कि गठबंधन पर सभी बातें और शर्तें लगभग पूरी हैं। सीटों के बंटवारे के फार्मूले पर अखिलेश यादव ने कहा कि फार्मूले पर जानकारी बाद में मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के इटावा जेल के उद्घाटन पर अखिलेश यादव ने कहा कि 2015 में इटावा जेल के निर्माण की शुरुआत समाजवादियों ने की थी। अब एक बार फिर मुख्यमंत्री शिलान्यास का शिलान्यास व उद्घाटन का उद्घाटन करने जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जेल को शहर से जोड़ने वाली सड़क आज भी टूटी हुई है।

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी चुनाव के पहले कुछ भी कर सकती है। सपा और गठबंधन पार्टी को सावधान रहना होगा। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बहुत खराब है। यूपी की न्याय के लिए लोग आत्‍महत्‍या कर रहे हैं। सीएम आवास से न्याय नहीं मिल रहा है। अखिलेश ने कि सरकार बाबा साहब अम्बेडकर के सिद्धांत नहीं मान रही, सब-कुछ बेचना चाहती है। बीजेपी ने बेमानी की बड़े पैमाने में पैसे देकर वोट खरीदने का काम किया है। हमें बैलेट वोटिंग व वोटिंग में ध्यान देना होगा। उन्‍होंने कहा कि पृथ्वी राज चौहान जी की मूर्ति लगाकर सम्मान देने का काम किया जाएगा। इस दौरान अखिलेश ने सीएम योगी पर इशारों-इशारों में कहा कि बाबा जाने वाले हैं उनकी बात क्या करना है? चुनाव लड़ रहे हैं, उससे भागना नही है। डिफेंस एक्सपो जब लगा, तब इसी गोमती नदी को सजाया गया था लेकिन इंवेसमेन्ट कहां गया? कितने लोगों को जॉब मिली? कितने कारखाने लगे? मेट्रो की एक स्टेशन नहीं बना पाए।

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी