उत्तर प्रदेशमथुरा

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मामले में मथुरा की अदालत में एक और वाद दाखिल, 25 नवंबर को होगी मामले पर सुनवाई

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले की अदालत में श्रीकृष्ण जन्मभूमि-शाही ईदगाह विवाद में एक और मामला जुड़ गया है. अब जन्मस्थान एवं ईदगाह के मध्य हुए समझौते को डिक्री को चुनौती देते हुए उसे खारिज करने का अनुरोध किया गया है. इस बारे में जानकारी देते हुए जस्टिस दीपक देवकीनन्दन शर्मा ने बताया कि सिविल जज (सीनियर डिवीजन) ज्योति की अदालत में बुधवार को एक अन्य कृष्णभक्त गोपाल गिरि ने अपने पैरोकार के माध्यम से प्रार्थना पत्र पेश कर जन्मस्थान एवं ईदगाह के बीच हुए समझौते को डिक्री को चुनौती देते हुए उसे खारिज करने का अनुरोध किया है.

25 नवंबर को होगी मामले में सुनवाई

फास्ट ट्रैक कोर्ट ने इस मामले में प्रतिवादियों को नोटिस जारी करने के आदेश दिए हैं. इस मामले में अगली सुनवाई के लिए 25 नवम्बर का दिन तय किया गया है. इस दावे में भी चेयरमैन, यूपी सुन्नी सेण्ट्रल वक्फ बोर्ड, सेक्रेटरी शाही ईदगाह इंतजामिया कमेटी, श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा समिति, श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट को विपक्षी बनाया गया है. अदालत इस मामले में अब 25 नवम्बर को आगे सुनवाई करेगी.

“श्रीकृष्ण के जन्मस्थल पर सदियों से होते आ रहे हैं हमले”

दूसरी ओर, श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति समिति की ओर से कोर्ट में दावा पेश करने वाले संस्था के अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा, भगवान श्रीकृष्ण के जन्मस्थल पर सदियों से आक्रमण होते रहे हैं. जिनकी निशानी के रूप में अनेक पुरातात्विक साक्ष्य मौजूद हैं और शाही ईदगाह तो वर्तमान में भी प्रत्यक्ष प्रमाण के रूप में मौजूद है.

“समाज में जागरूकता की जरूरत”

भगवान श्रीकृष्ण के अनुयायी अपने आराध्य देव के जन्मस्थान को मुक्त करवाने की कामना कर रहे हैं. अदालत में जन्मस्थान दस्तक दे दी गई है. लेकिन जब तक समाज में जागरूकता का अभाव रहेगा, श्रीकृष्ण जन्मस्थान को मुक्त करवा पाना मुमकिन नहीं होगा. इसलिए बुधवार को कटरा केशवदेव पर दीपदान कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें समिति के अन्य पदाधिकारी स्वामी डा. आदित्यानंद, गिर्राज सिंह सिसोदिया, जितेंद्र सिंह, ब्रजबिहारी गौतम, राजेंद्र माहेश्वरी एडवोकेट, आरबी चौधरी, दिनेश शर्मा समेत अनेक लोग मौजूद रहे.

(भाषा इनपुट के साथ)

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी