देशस्वास्थ्य

5 साल में 53 फीसदी बढ़े हार्ट अटैक से मौत के मामले, जानिए युवाओं का दिल क्यों कमजोर

साउथ के सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की हार्ट अटैक से मौत हो गई है. वो सिर्फ 46 साल के थे. फिटनेस फ्रीक थे. किसी ने सोचा नहीं था कि उन्हें हार्ट अटैक आ सकता है. लेकिन उन्हें हार्ट अटैक आया और उन्हें हमेशा-हमेशा के लिए उनके परिवार, उनके दोस्तों और लाखों फैंस से दूर कर दिया. पुनीत राजकुमार की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा शोक जताया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी शोक जताया है.फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ी कई हस्तियों ने भी दुख जताया है. किसी को यकीन नहीं हो रहा है कि आखिर एक युवा और फिट शख्स का दिल इतना कमजोर कैसे हो गया.

लाखों दिलों पर राज करने वाला वो सितारा जो बेहिसाब मेहनत के बल पर शोहरत के उस मुकाम तक पहुंचा था जिसके बारे में लोग सिर्फ सपनों में सोचते हैं. लेकिन किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि सिर्फ 46 साल की उम्र में ग्रेट सन ऑफ कर्नाटक के नाम से मशहूर पुनीत राजकुमार दुनिया छोड़कर चले जाएंगे.  ये खबर जैसे ही उनके करीबियों और चाहने वालों को मिली, जब पता चला कि पुनीत राजकुमार की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है. तो सबका दिल डूबने लगा.

जिम में वर्कआउट के दौरा पड़ा दिल का दौरा

बताया जा रहा है कि जिम में वर्कआउट के दौरान पुनीत राजकुमार को दिल का दौरा पड़ा. फौरन उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. मौत सबको आनी है..हमेशा के लिए दुनिया में कोई नहीं आता, लेकिन जिस तरह एक के बाद एक युवा सितारे दुनिया से जा रहे हैं, वैसे कोई जाता भी नहीं. पिछले महीने महज 40 साल की उम्र में हार्ट अटैक से सिद्धार्थ शुक्ला का निधन और अब 46 साल की उम्र मे पुनीत राजकुमार का निधन.

हर कोई सन्न है.सोच रहा है.पूछ रहा है कि आखिर जो बीमारी कल तक बुजुर्गों की मानी जाती थी. वो अब युवाओं को शिकंजे में क्यों लेने लग गई है. कम उम्र में दिल की बीमारी या हार्ट अटैक की बड़ी वजह बिगड़ी हुई लाइफ स्टाइल है. स्ट्रेस, स्मोकिंग, अल्कोहल और जंक फूड कम उम्र में हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार हैं. पुनीत राजकुमार को हार्ट अटैक जिम में वर्कआउट के दौरान आया.दरअसल, सिक्स पैक्स और शरीर फिट रखने के लिए जिम में पसीना बहाना भी दिल के लिए भारी पड़ रहा है.

बहुत अधिक जिम करने से दिल पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है. शरीर की सहनशक्ति से ज्यादा उस पर दबाव पड़ने के कारण हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है. जिम करने के दौरान अपनी बॉडी को फिट रखने के लिए युवा कई तरह के प्रोटीन सप्लीमेंट और दवाओं का सेवन करते हैं, लेकिन कभी-कभी सप्लीमेंट बॉडी बनाने के बजाए बॉडी बिगाड़ देते हैं और जानलेवा साबित होते हैं.

5 साल में 53% बढ़े हार्ट अटैक से मौत के मामले

युवाओं का दिल क्यों कमजोर हो रहा है. ये तो आपने समझ लिया लेकिन दिल की बीमारी देश में लोगों की मौत की बहुत बड़ी वजह है. NCRB के मुताबिक हार्ट अटैक से मौत के मामले 5 साल में 53% बढ़े हैं. Indian Heart Association के मुताबिक, भारत में हर साल 17 लाख लोगों की मौत ​हृदय की बीमारियों की वजह से होती है. इनमें से 50 प्रतिशत हार्ट अटैक उन लोगों को आते हैं जिनकी उम्र 50 वर्ष से कम है. जबकि इनमें 25 प्रतिशत लोग 40 वर्ष से कम उम्र के होते हैं. एक आंकड़े के मुताबिक, वर्ष 2030 तक भारत में हृदय रोगों की वजह से हर साल ढाई करोड़ लोगों की मौत होगी. हमारी इस रिपोर्ट से साफ है कि आप सावधान रहें सतर्क रहें खासतौर पर अपनी लाइफ स्टाइल सही रखें. समय पर खाएं सही खाएं और जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज ना करें.

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी