उत्तर प्रदेशशामली

कैराना में वापस लौटे हिन्दू परिवारों से मिले सीएम योगी, कहा- चुनाव अभी दूर है, पीड़ित हिन्दू हैं तो उससे मिलना गुनाह नहीं

कैराना: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कैराना में उन परिवारों से मुलाकात की, जो 2016 में प्रवास करने के बाद अब लौट आए हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, कैराना में कई परिवार 2016 में दूसरे समुदाय की धमकियों के कारण पलायन कर गए थे। ऐसे में योगी वापस लौटने वाले परिवारों से मिले।

उन्होंने कहा, “यहां पर हिंदू व्यापारी और अन्य हिंदुओं को व्यापक पैमाने पर प्रताड़ित करके पलायन के लिए मजबूर किया गया था, देश के अंदर यह समाचार काफी सुर्खियों में भी था, 2017 के बाद अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति के तहत सरकार ने जो कार्रवाई की थी उसकी वजह से इस कस्बे में शांति वापस आई है।” उन्होंने कहा, “बहुत सारे परिवार वापस आए हैं, 2017 में जब मैं यहां आया था तो लोगों ने मांग की थी कि सुरक्षा की दृष्टि से यहां की चौकी को मजबूत किया जाए तथा पीएसी की एक बटालियन की स्थापना हो, चौकी के सुदृढ़ीकरण की कार्रवाई पहले ही चुकी थी और यहां पर पीएसी की बटालियन की स्थापना की कार्रवाई के लिए मैं खुद आया हूं।”

उन्होंने कहा, “कुछ परिवारों के साथ भी मैंने संवाद किया है, जो पिछली सरकारों के राजनीतिक अपराधिकरण के शिकार हुए थे, उसमें से ज्यादातर परिवार वापस आ चुके हैं, उनमें एक विश्वास जगा है, हमारी सरकार ने इस बात के लिए यहां के हर परिवार को आश्वस्त किया है कि सरकार अपराध और अपराधियों के प्रति जिस जीरो टॉलरेंस के तहत काम कर रही थी, वही रणनीति आगे भी चलती रहेगी। यही आश्वासन देने के लिए आज मैं खुद इस कैराना कस्बे में आया हूं। बच्चों, महिलाओं के अंदर एक विश्वास देखने को मिला है और यह विश्वास अवश्य रंग लाएगा, कैराना विकास की प्रक्रिया के साथ तेजी से आगे बढ़ा है।”

योगी ने कहा, “औद्योगिक इकाइयां यहां लग रही हैं, बहुत लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलना शुरू हुआ है, व्यापार बढ़ा है। 2017 में सरकार के आने के बाद से जो नीति रही है और प्रधानमंत्री जी का जो मंत्र रहा है, सबका विश्वास सबका विकास का, यहां सबका विकास करेंगे, प्रशासन की योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव देंगे लेकिन बिना तुष्टिकरण की नीति अपनाए अपराध और अपराधियों के प्रति कठोरतम कार्रवाई करने के अपने संकल्प के साथ मैं खुद यहां आया हूं। मै फिर इस कस्बे के सभी लोगों को आश्वस्त करता हूं कि वे बेझिझक यहां अपने पूर्वजों की भूमि पर रहें, यहां की विरासत को सुरक्षित करना तथा व्यापारिक और औद्योगिक माहौल को और तीव्रता के साथ आगे बढ़ाने पर सरकार काम करेगी।”

उन्होंने कहा, “समाजवादी पार्टी सरकार के समय जिन परिवारों को क्षति पहुंचाई गई थी, उनके परिवार के सदस्यों की निर्मम हत्या हुई थी उसको लेकर जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है, उसमें से बहुत सारे दोषियों पर कार्रवाई हो चुकी है। सरकार पीड़ितों को कुछ मुआवजा भी देगी, जिससे लोग फिर से यहां पर अपने व्यवसाय को बढ़ा सके। अभी चुनाव नहीं है, चुनाव में कुछ समय है। मेरा दायित्व बनता है कि हर पीड़ित से मिलूं और अगर पीड़ित हिंदू है तो उससे मिलना गुनाह नहीं है, इसलिए उन पीड़ित लोगों से मिलने आया हूं, जिन्हें पिछली सरकार के समय प्रताड़ित करके पेशेवर अपराधियों ने यहां से पलायन के लिए मजबूर कर दिया था।” बता दें कि विपक्ष द्वारा योगी के कैराना दौरे को लेकर सवाल उठाया जा रहा था।

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी