देश

100 करोड़ लोगों को कोविड वैक्‍सीन की डोज पर भारत के लिए दोस्‍त इजरायल ने भेजा ये खास बधाई संदेश

इजरायल (Israel) के प्रधानमंत्री नफताली बेनेट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोविड-19 वैक्‍सीनेशन कैंपेन सफलतापूर्वक पूरा करने पर बधाई दी है. नफताली बेनेट की तरफ से ट्वीट कर पीएम मोदी और भारत को शुभकामनाएं भेजी हैं. इजरायली पीएम बेनेट ने लिखा है, ‘नरेंद्र मोदी जी को बधाईयां जिन्‍होंने सफलतापूर्वक भारत के कोविड-19 वैक्‍सीनेशन कैंपेन का नेतृत्‍व किया जिसके तहत आज भारत के 1 अरब लोगों को वैक्‍सीन लगाई जा चुकी है.’ उन्‍होंने आगे लिखा है कि इन जीवन रक्षक दवाईयों की वजह से ही वैश्विक महामारी को हराने में सफलता मिल सकी है.

अमेरिका ने की तारीफ

इजरायल के अलावा अमेरिकी दूतावास की तरफ से ट्वीट कर भारत को बधाई दी गई है. दूतावास ने लिखा है, ‘आज कोविड-19 वैक्‍सीन की 100 करोड़ डोज देने के लक्ष्‍य को हासिल करने पर भारत को बधाईयां. यह वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ने में दुनिया की कोशिशों में मील का एक बड़ा पत्‍थर है.’

भारत में टीकाकरण मुहिम की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी. इसके पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए गए थे. इसके बाद दो फरवरी से अग्रिम मोर्चे के कर्मियों का टीकाकरण आरंभ हुआ था. टीकाकरण मुहिम का अगला चरण एक मार्च से आरंभ हुआ, जिसमें 60 साल से अधिक आयु के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीके लगाने शुरू किए गए. देश में 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण एक अप्रैल से आरंभ हुआ था और 18 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू हुआ. कोविड-19 रोधी टीकों की अब तक दी गई खुराक की संख्या गुरुवार को 100 करोड़ के पार पहुंच गई.

पीएम मोदी बोले-इतिहास रच दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस आंकड़ें को पार करने पर देशवासियों को बधाई दी. उन्‍होंने कहा कि भारत ने इतिहास रच दिया है. पीएम मोदी ने ने टीकाकरण की इस उपलब्धि को भारतीय विज्ञान, उद्यम और 130 करोड़ भारतीयों की सामूहिक भावना की जीत करार दिया. मोदी ने ट्वीट किया, ‘ भारत ने इतिहास रच दिया. यह भारतीय विज्ञान, उद्यम और 130 करोड़ भारतीयों की सामूहिक भावना की जीत है. भारत में टीकों की 100 करेाड़ खुराक दिए जाने पर बधाई. हमारे चिकित्सकों, नर्सों और यह उपलब्धि हासिल करने में योगदान देने वाले सभी लोगों के प्रति आभार.’

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी