उत्तर प्रदेशलखनऊ

युवा कवि ज्ञान प्रकाश चौबे को मलखान सिंह सिसौदिया कविता पुरस्कार

लखनऊ। जनवादी लेखक संघ की ओर से कैफी आजमी अकादमी सभागार में सम्मान समारोह का आयोजन हुआ। युवा कवि ज्ञान प्रकाश चौबे को वरिष्ठ कवि नरेश सक्सेना ने मलखान सिंह सिसौदिया कविता पुरस्कार से सम्मानित किया। ज्ञान प्रकाश चौबे की कविताओं पर बात रखते हुए वरिष्ठ कवि नरेश सक्सेना ने कहा कि इनकी कविता ‘थोड़ा सा खिसक जाएं’ साहित्य की दुनिया में भी कविता के सिकुड़ने का संकेत है। सच तो यह है कि कविता स्मृति में न जा सके तो व्यर्थ है। उन्होंने ज्ञान प्रकाश की कविता ‘हत्यारे’ की खास तौर से चर्चा की और उसके अंत की प्रशंसा की।

वरिष्ठ कवि हरीश चंद्र पांडे ने कहा कि ज्ञान प्रकाश की अधिकांश कविताएं प्रेम कविताएं हैं। आज बहुत कम कविता संग्रह प्रेम कविताओं के मिल रहे हैं। नलिन रंजन सिंह ने ज्ञान प्रकाश की कविताओं को विस्थापन के दर्द से उपजे और प्रेम में डूबे हुए कवि की कविताएं कहा। दूसरे सत्र में स्थानीय एवं विभिन्न शहरों से आए कवियों ने अपनी कविताएं सुनाईं। इनमें नूर आलम, शालिनी सिंह, सीमा सिंह, विमल चन्द्राकर, आभा खरे, कुमार मंगलम, नलिन रंजन सिंह आदि शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी