उत्तर प्रदेशलखनऊसत्ता-सियासत

शिवपाल के लिए चुनाव प्रचार करेंगे मुलायम सिंह! क्या अखिलेश पर सियासी दबाव बना रहे हैं चाचा?

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रमुख शिवपाल सिंह ने दावा किया है कि विधानसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव उनके लिए प्रचार करेंगे. राज्य में चुनाव के कुछ ही महीने बचे हैं. लेकिन अभी तक मुलायम सिंह परिवार में एकता नहीं हो सकी है. वहीं शिपपाल सिंह लगातार अखिलेश यादव से चुनाव गठबंधन की इच्छा जता चुके हैं. लेकिन अभी तक अखिलेश यादव की तरफ शिवपाल सिंह यादव को संकेत नहीं मिले हैं. जबकि राज्य में एसपी छोटे दलों से करार कर रही है, लेकिन अभी तक उसने पीएसपी की तरफ गठबंधन के लिए हाथ आगे नहीं बढ़ाया है.

राज्य में होने वाले चुनाव से पहले प्रसपा अध्यक्ष ने मेरठ में बड़ा बयान दिया है. शिवपाल सिंह यादव के कहना है कि मुलायम सिंह ने कहा कि अगर अखिलेश और उनकी पार्टी का चुनाव के लिए गठबंधन नहीं होता है और या फिर दोनों मिलकर चुनाव नहीं लड़ते हैं तो मुलायम सिंह यादव शिवपाल के लिए चुनाव में प्रचार करेंगे. शिवपाल सिंह ने कहा कि नेता ने मुझसे पूछा कि तुम लोग एक कब हो रहे तो उन्होंने कहा कि अखिलेश को बुला लो हम 3 लोग मिलकर बात करेंगे. असल में समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह भी चाहते हैं कि अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच संबंध सुधर जाए और मुलायम सिंह यादव इसके लिए की प्रयास भी कर चुके हैं.

अखिलेश चाहते हैं विलय तो शिवपाल चुनावी गठजोड़

दरअसल समाजवादी पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बीच गठजोड़ न होने के पीछे सबसे बड़ी वजह दोनों ही दलों की अपनी-अपनी शर्ते हैं. क्योंकि जहां अखिलेश यादव पीएसपी का एसपी में विलय चाहते हैं तो शिवपाल सिंह यादव अपनी पार्टी का एसपी के साथ चुनावी गठबंधन करना चाहते हैं. जिसके कारण अभी तक दोनों के बीच में किसी भी तरह का समझौता नहीं हो सका है.

शिवपाल की पार्टी की स्थापना में जा चुके हैं मुलायम सिंह

समाजवादी पार्टी से निकाले जाने के बाद जब शिवपाल सिंह ने अपनी पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन किया था तब मुलायम सिंह उनकी रैली में गए थे और शिवपाल सिंह को आशीर्वाद दिया था. लेकिन उसके बाद मुलायम सिंह शिवपाल सिंह की किसी भी रैली में नहीं गए. जबकि लोकसभा चुनाव के वक्त शिवपाल सिंह ने समाजवादी पार्टी के खिलाफ अपने प्रत्याशी उतारे थे. जिसके कारण एसपी को बड़ा नुकसान हुआ था और पार्टी महज पांच सीटों पर जीत दर्ज कर सकी थी. इस बात को लेकर मुलायम सिंह यादव शिवपाल से नाराज हो गए थे.

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी