उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

राजस्थान से आईं कांग्रेस की बसें नहीं घुस पाईं यूपी में, आगरा बार्डर पर हैं खड़ी: अजय कुमार लल्लू

लखनऊ। एक हजार बसों के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निजी सचिव और उत्तर प्रदेश सरकार लेटर वॉर के बीच यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने आरोप लगाया है कि राजस्थान से आईं कांग्रेस की बसें आगरा बार्डर पर रोक ली गईं। लल्लू ने बताया कि आगरा की सीमा में बसों को प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिली। चौमा शाहपुर बार्डर पर पिछले पांच घंटे से सियासत जारी है। लल्लू ने कहा कि प्रदेश सरकार राजनीति बंद कर बसों का संचालन शुरू कराए।

दरसअसल प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह ने सोमवार और मंगलवार की रात दो बजे यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह को पत्र लिख कर कहा, लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों के सिलसिले में रविवार शाम चार बजे सरकार ने एक हजार बसों की सूची चालक परिचालक के नाम के साथ मांगी थी जिसे उपलब्ध करा दिया गया है। आपने मंगलवार सुबह दस बजे लखनऊ में बसें उपलब्ध कराने की अपेक्षा की है जबकि प्रवासी गाजियाबाद और नोएडा स्थित दिल्ली सीमा पर फंसे है।

ऐसे में लखनऊ को बस भेजना समय और संसाधन की बरबादी है और गरीब विरोधी मानसिकता की उपज है। ऐसा लगता नहीं है कि आपकी सरकार श्रमिकों की मदद करना चाहती है। इसके जवाब में सरकार की ओर से अवनीश अवस्थी ने प्रियंका गांधी के निजी सचिव को पत्र लिखकर कहा कि 500 बसें गाजियाबाद के कौशांबी और साहिबाबाद बस अड्डे पर दोपहर 12 बजे तक उपलब्ध करा दें। इसके अलावा 500 बसे गौतमबुद्धनगर को एक्सपो मार्ट के निकट ग्रांउड पर उपलब्ध कराने का कष्ट करें।

पत्र का जवाब देते हुए प्रियंका के सचिव ने कहा कि सुबह 11 बजकर पांच मिनट पर पत्र मिलने के बाद इतनी जल्दी बस उपलब्ध कराना मुश्किल है क्योंकि दोबारा परमिट दिलाने की कार्यवाही की जा रही है। बसों की संख्या अधिक होने के कारण इसमें कुछ समय लगेगा। आग्रह है कि शाम पांच बजे तक समय देने की कृपा करें और साथ ही सरकार यात्रियों की सूची और रोडमैप तैयार रखे ताकि संचालन में हमे कोई आपत्ति न आए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button