उत्तर प्रदेशलखनऊ

यूपी में अब 9 हो गई फंक्शनल एयरपोर्ट की संख्या, जानें- एक दिन में हैं कितनी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का फोकस इस बात पर है कि यूपी को कैसे एयर कनेक्टिविटी का एक हब बनाया जाए और इसीलिए लगातार प्रदेश के कई शहरों में एयरपोर्ट का संचालन शुरू किया गया है. इसी कड़ी में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुशीनगर को अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की सौगात दी. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में फंक्शनल एयरपोर्ट की संख्या बढ़कर नौ हो गई जो कि 2017 से पहले सिर्फ चार हुआ करती थी.

कुशीनगर पूरी दुनिया में एक महत्वपूर्ण बौद्ध धार्मिक स्थल के रूप में जाना जाता है. दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से बौद्ध धर्म के अनुयायी यहां आते हैं. हालांकि अभी तक कुशीनगर के लिए कोई डायरेक्ट एयर कनेक्टिविटी नहीं थी लेकिन अब इस अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के शुरू हो जाने से माना जा रहा है कि यहां पर आने वाले बौद्ध धर्म के अनुयायियों की भी संख्या बढ़ेगी बल्कि यहां टूरिज्म इंडस्ट्री को भी एक गति मिलेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का उद्घाटन किया है उसे तैयार करने में 260 करोड़ रुपए का खर्च आया है. इस एयरपोर्ट का जो रनवे है वह प्रदेश में सबसे लंबा 3200 मीटर का है.

62 घरेलू उड़ानें हैं और 12 अंतरराष्ट्रीय उड़ानें हैं

एक वक्त था कि उत्तर प्रदेश में केवल चार एयरपोर्ट ही हुआ करते थे. 2017 से पहले लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर और आगरा में ही एयरपोर्ट फंक्शनल थे लेकिन 2017 के बाद योगी सरकार ने यूपी को हवाई यात्रा में बेहतर करने का एक लक्ष्य रखा और यही वजह है कि आज उत्तर प्रदेश में कुल 9 एयरपोर्ट तैयार है, जिनमें 3 अंतराष्ट्रीय स्तर के हवाई अड्डे हैं. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 10 और शहरों में भी एयरपोर्ट निर्माण का काम चल रहा है. जबकि नोएडा के जेवर एयरपोर्ट को बनाने में 4100 करोड़ का खर्च आ रहा है और अयोध्या एयरपोर्ट का 1000 करोड़ रुपए का बजट है. इसके अलावा सहारनपुर, अलीगढ़, आजमगढ़, मुरादाबाद, श्रावस्ती, चित्रकूट, सोनभद्र और ललितपुर में सरकार एयरपोर्ट को विकसित कर रही है. पहले चार हवाई अड्डों से 25 जगहों की उड़ाने थी लेकिन अब आठ एयरपोर्ट से 62 घरेलू उड़ानें हैं और 12 अंतरराष्ट्रीय उड़ानें हैं. इन्हें जोड़ दें तो कुल उड़ानों की संख्या बढ़कर अब 74 हो गयी है.

Related Articles

Back to top button