आगराउत्तर प्रदेश

अरुण वाल्मीकि के परिवार से मिलीं प्रियंका, गहलोत सरकार से मुआवजा दिलवाने का ऐलान; आगरा पुलिस ने कहा- सब कानून के तहत हुआ

कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) बुधवार को आगरा (Agra) पुलिस की हिरासत में मारे गए अरुण वाल्मीकि (Arun Valmiki Death) के घर पर पहुंची. तकरीबन आधा घंटे से ज्यादा वहां रुकने के बाद उन्होंने राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला. अरुण वाल्मीकि की थाने में पुलिस हिरासत में मौत होने के बाद सूबे की सियासत गरमा गई है. राज्य सरकार ने पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को आगरा जाने से रोका और बाद में उन्हें कुछ शर्तों के साथ ही आगरा जाने की इजाजत दी. प्रियंका गांधी ने कहा कि अरुण को इलेक्टिक शॉट देकर मारा गया है. उधर योगी सरकार ने अरुण के परिवार को 10 लाख रुपए मुआवजा और पत्नी को सरकारी नौकरी देने की घोषणा कर दी है.

प्रियंका गांधी ने कहा कि अरुण का परिवार भरतपुर से संबंध रखता है और वह गहलोत सरकार से मुआवजे के लिए कहेंगी. उन्होंने कहा कि परिवार के लोगों ने बताया कि उनके परिवार से करीब वाल्मीकि समाज के 17 से 18 लोगों को पुलिस ने उठाया और उनकी बड़ी बेरहमी से पिटाई की गई. वहीं थाने में पुलिस हिरासत में अरुण की मौत हो गई. प्रिंयका गांधी ने दावा किया है कि अरुण की बीवी ने उन्हें बताया कि महिलाओं के साथ भी पुलिस वालों ने मारपीट की है. वहीं प्रियंका गांधी का दावा है कि अरुण की बीवी ने उन्हें बताया कि उसके पति को इलेक्ट्रिक शॉक दिया गया है.

आगरा पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

परिवार के साथ प्रियंका गांधी की मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि अरुण के परिवार का आरोप है कि वह अरुण से दो बजे मिले थे और जबकि ढाई बजे पुलिस वालों ने सूचना दी कि अरुण की मौत हो गई है. वहीं पोस्टमार्टम में परिवार का एक भी सदस्य मौजूद नहीं था पोस्टमार्टम की रिपोर्ट भी परिवार को नहीं सौंपी गई है. फिलहाल प्रियंका गांधी ने पुलिस पर भी परिवार का हवाला देते हुए कई तरह के आरोप लगाए. उन्होंने बताया कि अरुण के भाई कोई तहरीर दिखाई गई उस पर जबरन साइन करवाए गए हैं जबकि भाई को पढ़ना लिखना नहीं आता है.

प्रिंयका गांधी ने दावा किया है कि अरुण के घर को पुलिस वालों ने पूरी तरह से तहस नहस किया है और घर के पलंग तोड़े गए हैं अलमारियां तोड़ी गई है. यही अल्मारियों से सारे कपड़े बाहर फेंके गए और अरुण ने अपनी बहन की शादी के लिए जो सामान घर में रखा था वह भी पुलिस वाले अपने साथ लेकर चले गए हैं.

आगरा पुलिस ने कहा- हार्ट अटैक से हुई है मौत

उधर आरोपों से घिरी आगरा पुलिस के SSP मुनिराज ने बताया है की अरुण के खिलाफ कानून के तहत ही कार्रवाई की गई थी. उन्होंने कहा कि एनएचआरसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार, डॉक्टरों के पैनल द्वारा शव का सबसे अधिक पोस्टमार्टम किया गया है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक मौत का कारण हार्ट अटैक है. आगे की जांच फिलहाल जारी है.

प्रियंका गांधी बोली सेल्फी लेने में क्या बुराई

वहीं लखनऊ में जिन महिला पुलिसकर्मियों ने कांग्रेस महासचिव के साथ सेल्फी ली हैं. उनके खिलाफ कार्यवाही की जा रही है. वहीं इस मामले में प्रियंका गांधी महिला पुलिसकर्मियों के पक्ष में आ गई हैं. प्रियंका गांधी ने कहा कि जिन महिला पुलिसकर्मियों ने मेरे साथ सेल्फी खिंचवाई उनका भविष्य खराब करने से क्या मिलेगा? मैंने अपनी खुशी से उनके साथ सेल्फी खिंचवाई थी और इसमें बुराई क्या है. उनका कैरियर बर्बाद किया जाएगा, उनके घर पर बच्चे हैं वह अपने परिवार के लिए कम आती हैं.

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी