उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊसत्ता-सियासत

लखनऊ में आयोजित “रन फॉर यूनिटी”: सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरदार पटेल के सपनों को पूरा करने का संकल्प लिया

एकता के प्रेरक प्रदर्शन में, लखनऊ में राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर आयोजित रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम में बड़ी संख्या में युवा प्रतिभागियों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सभी को शुभकामनाएं दीं।

भारत की एकता और अखंडता के निर्माता सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर लखनऊ में ‘रन फॉर यूनिटी’ के नाम से जाना जाने वाला कार्यक्रम आयोजित किया गया था।

इस अवसर पर, रक्षा मंत्री और लखनऊ से सांसद, राजनाथ सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ, ने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए सभा को संबोधित किया।

उन्होंने ‘भारत के लौह पुरुष’ और ‘भारत रत्न’ के नाम से मशहूर सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की और सभी को राष्ट्रीय एकता दिवस की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वे अखंड भारत के निर्माण में ‘सरदार साहब’ के सपनों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

लखनऊ में रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम हजरतगंज के सरदार पटेल स्मारक पार्क से शुरू हुआ और डी. सिंह बाबू स्टेडियम में समाप्त हुआ, जिसमें बड़ी संख्या में युवाओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

सरदार वल्लभभाई पटेल के आदर्शों का जश्न मनाने वाले इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के विविध सांस्कृतिक, भाषाई और धार्मिक समुदायों के बीच एकता और एकीकरण को बढ़ावा देना है। यह रियासतों को स्वतंत्र और अखंड भारत में एकीकृत करने में सरदार पटेल द्वारा निभाई गई भूमिका की याद दिलाता है, जिसे आज हम जानते हैं।

राष्ट्रीय एकता दिवस का महत्व

राष्ट्रीय एकता दिवस सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर मनाया जाता है, जो 31 अक्टूबर को आती है। सरदार पटेल भारत के पहले उप प्रधान मंत्री और गृह मंत्री थे। उन्होंने 1947 में ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन से स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद 562 से अधिक रियासतों को एकजुट भारत में एकीकृत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनकी दूरदर्शिता और अथक प्रयासों ने उन्हें ‘भारत के लौह पुरुष’ की उपाधि दी।

राष्ट्रीय एकता दिवस सभी भारतीयों को इस महान नेता के योगदान को याद करने और जश्न मनाने का अवसर प्रदान करता है। देश भर में आयोजित ‘रन फॉर यूनिटी’ कार्यक्रम एकता और विविधता की भावना का प्रतीक हैं, जो जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों को एक साथ लाते हैं।

राजनाथ सिंह और योगी आदित्यनाथ का संबोधन

दूरदर्शी नेता सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जयंती पर अपनी हार्दिक श्रद्धांजलि व्यक्त करने के लिए राजनाथ सिंह और योगी आदित्यनाथ ने सोशल मीडिया का सहारा लिया। उन्होंने राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर नागरिकों को शुभकामनाएं दीं और सरदार पटेल के सपनों को साकार करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में भारत सरदार पटेल के सपनों को पूरा करने के लिए साझा दृष्टिकोण के साथ आगे बढ़ रहा है। उनका संदेश उन असंख्य भारतीयों को प्रभावित करता है जो भारत को एक एकजुट और समृद्ध राष्ट्र के रूप में देखने की आकांक्षा रखते हैं।

रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम

लखनऊ में रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम बड़े उत्साह और उमंग के साथ आयोजित किया गया। इसमें बड़ी संख्या में युवा प्रतिभागी शामिल हुए, जिन्होंने सरदार पटेल स्मारक पार्क से डी. सिंह बाबू स्टेडियम तक काफी दूरी तय करते हुए दौड़ लगाई। यह आयोजन न केवल शारीरिक फिटनेस को बढ़ावा देता है बल्कि एकता की उस भावना का भी प्रतीक है जिसके लिए सरदार पटेल खड़े थे।

जैसे ही प्रतिभागियों ने एक साथ दौड़ लगाई, उन्होंने एकता, विविधता और सद्भाव के मूल्यों का उदाहरण दिया जो भारत की पहचान के मूल में हैं। इस तरह के आयोजन नागरिकों के बीच एकजुटता और अपनेपन की भावना को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

राष्ट्रीय एकता दिवस पर लखनऊ में रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम सरदार वल्लभभाई पटेल की स्थायी विरासत के प्रमाण के रूप में खड़ा है। यह एक एकजुट और समृद्ध राष्ट्र के निर्माण के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारत सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। यह उत्सव भारत जैसे सांस्कृतिक रूप से समृद्ध और विविधतापूर्ण देश में एकता और विविधता के महत्व की याद दिलाता है।

यह आयोजन न केवल एक महान नेता को श्रद्धांजलि देता है बल्कि युवा पीढ़ी को सामंजस्यपूर्ण और एकजुट भारत की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करता है। यह ‘सरदार साहब’ के सपनों को साकार करने और एक मजबूत, अधिक एकीकृत राष्ट्र के निर्माण की दिशा में एक कदम है।

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी