बड़ी खबरमनोरंजन

आर्यन खान से मिलने आर्थर रोड जेल पहुंचे शाहरुख खान, जमानत के लिए हाईकोर्ट में की है अपील

मुंबई क्रूज ड्रग केस में आरोपी आर्यन खान की बुधवार को अदालत से बेल रिजेक्ट होने के बाद उनके पिता और बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान गुरुवार सुबह उनसे मिलने आर्थर रोड पहुंचे. शाहरुख यहां ज्यादा देर नहीं रुके और सिर्फ 15 मिनट में ही वापस लौट गए. उन्हें ग्रे टी-शर्ट और चश्मा लगाए देखा गया. इससे पहले बुधवार को मुंबई सेशन कोर्ट के जज वीवी पाटिल ने 18 पन्नों में दिए आदेश में कहा कि पहली नजर में देखने पर पता चलता है कि आर्यन खान के खिलाफ सबूत हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक इससे पहले शाहरुख खान और उनकी पत्नी गौरी खान ने आर्यन से वीडियो कॉल पर बात की थी. बताया जा रहा था कि दोनों ही बेटे के लिए परेशान हैं और उसकी सेहत को लेकर जेल के अधिकारियों से जानकारी देते रहते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आर्यन खान बेल रिजेक्ट होने के बाद से ही काफी परेशान हैं और कल से ही उन्होंने न तो खाना खाया है और न ही किसी से बात की है.

आर्यन खान पिछले 14 दिनों से मुंबई के आर्थर रोड जेल में बंद हैं. एनसीबी ने उनपर ड्रग्स लेने और इंटरनेशनल ड्रग ट्रैफिकिंग से जुड़े होने का इल्जाम लगाया है. आर्यन खान की जमानत की याचिका मजिस्ट्रेट कोर्ट और सेशंस कोर्ट से खारिज की जा चुकी है. अब उनके वकीलों ने मुंबई हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. बता दें कि आर्यन खान की न्यायिक हिरासत खत्म होने वाली है, ऐसे में एनसीबी एक बार फिर उनकी न्यायिक हिरासत की मांग करने वाली है. एनसीबी हाई कोर्ट में अपना जवाब डालने के लिए तैयार है. माना जा रहा है कि आर्यन खान को जल्द राहत मिलने के आसार कम हैं.

क्यों रिजेक्ट हुई है बेल?

बुधवार को कोर्ट ने बेल रिजेक्ट करते हुए जो फैसला सुनाया है उसमें NCB के आरोपों में दम होने की बात स्वीकार की गई है. कोर्ट ने कहा, ‘आर्यन और अरबाज काफी लंबे वक्त से दोस्त हैं. वो एक साथ जा रहे थे और उन्हें क्रूज पर साथ में पकड़ा गया है. दोनों ने अपने बयानों में ड्रग्स लेने की बात भी कबूली है. इन सबसे पता चलता है कि आर्यन को पता था कि अरबाज के जूतों में ड्रग्स है.’ आर्यन के पास से ड्रग्स न मिले के डिफेंस पर कोर्ट ने कहा- आरोपी नंबर-1 (आर्यन खान) के पास से भले ही कोई प्रतिबंधित पदार्थ नहीं मिला है, लेकिन आरोपी नंबर-2 (अरबाज मर्चेंट) के पास 6 ग्राम चरस मिली थी. इसलिए कहा जा सकता है कि दोनों को इस बारे में पता था.’

कोर्ट ने माना ड्रग पैडलर्स के साथ चैट कर रहा था आर्यन

फैसले में जज वीवी पाटिल ने कहा, ‘वॉट्सऐप चैट से पता चलता है कि आरोपी नंबर-1 अज्ञात व्यक्तियों के साथ ड्रग्स को लेकर बात कर रहा था. इसलिए प्रथम दृष्टया यही लगता है कि आवेदक और आरोपी नंबर-1 अज्ञात व्यक्तियों के साथ प्रतिबंधित नारकोटिक्स पदार्थ की डील करता था. वॉट्सऐप चैट से पता चलता है कि आरोपी नंबर-1 और ड्रग पेडलर्स के बीच साठगांठ थी. आरोपी नंबर-2 के साथ भी उसके चैट हैं. इसके अलावा आरोपी नंबर-1 से 8 तक को गिरफ्तार किया गया और उनके पास कुछ मात्रा में प्रतिबंधित पदार्थ पाए गए हैं. पूछताछ के दौरान आरोपियों ने सप्लाई करने वालों के नाम का खुलासा किया है. ये आरोपियों के किसी आपराधिक साजिश में शामिल होने की ओर इशारा करता है. प्रथम दृष्टया रिकॉर्ड पर रखी गई सामग्री से पता चलता है कि इस मामले में एनडीपीएस की धारा 29 लागू होती है.’

जज पाटिल ने पाया कि ये मामला वैसा ही है जैसा रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक चक्रवर्ती का था. शोविक की वॉट्सऐप चैट से भी पता चला था कि वो ड्रग पैडलर्स के संपर्क में था. जज पाटिल ने कहा, ‘प्रथम दृष्टया लगता है कि आरोपी एक बड़े नेटवर्क का हिस्सा है. जैसा शोविक चक्रवर्ती के मामले में था. क्योंकि आरोपी साजिश का हिस्सा है, इसलिए जो भी ड्रग्स की जब्ती हुई है, उसके लिए वो भी उत्तरदायी है. हर आरोपी के मामले को एक-दूसरे से अलग नहीं किया जा सकता.’

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी