आज़मगढ़उत्तर प्रदेशबड़ी खबर

अर्द्धनग्न हालत में मिली थी बच्ची, परिजनों ने जताई रेप की आशंका और मौत के बाद न्याय मांगा तो SP ने सबके सामने पीटा

उत्तर प्रदेश पुलिस के जूनियर पुलिसकर्मी ही नहीं बल्कि सीनियर पुलिस अफसरों का भी अमानवीय चेहरा बार-बार सामने आ रहा है. राज्य में कई बार पहले भी पुलिस का असंवेदशील चेहरादेखने को मिला है. वहीं अब सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें आजमगढ़ के पुलिस अधीक्षक का असंवेदनशील रवैया अफसरों की कार्यप्रणाली पर सवाल उठा रहा है. असल में जिले में एक 10 साल की बच्ची का सड़क किनारे अर्द्धनग्न मिला और उसके बाद अस्पताल में उसकी मौत हो गई. घर वाले इस मामले में एसपी से मिलने गए तो एसपी साहब परिजनों पर ही गुस्सा हो गए और वहां पर विरोध जता रहे एक युवक की पिटाई कर दी.

एसपी के मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. वहीं वीडियो वायरल होने के बाद एसपी बैकफुट पर हैं और बयान देकर स्पष्टीकरण देने की कोशिश कर रहे हैं. फिलहाल इस मामले में घटना के चार दिन बाद लड़की की मौत के मामले में हत्या और रेप की धाराओं के तहत भी मामला दर्ज किया गया है.

जानकारी के मुताबिक जिले के रसूलपुर थाना क्षेत्र निवासी व्यक्ति के 10 वर्षीय बच्ची की लाश घर से कुछ ही दूरी पर मिली. बच्ची अर्द्धनग्न अवस्था में थी और उसकी हालत को देखकर घर वालों को बच्ची को रेप का शक हुआ. परिवार के लोग जिला अस्पताल ले गए और वहां से बच्ची को रेफर कर दिया गया. लेकिन शनिवार को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. लेकिन ये मामला बड़ा ना बन जाए, इसलिए पुलिस ने तुरंत उसका अंतिम संस्कार किया. चर्चा है कि एसओ ने अपने खर्चे पर अंतिम संस्कार किया. वहीं इस मामले में पुलिस का कहना है कि बच्ची के साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है.

एसपी के कार्यालय पहुंचे न्याय मांगने

इस मामले में लड़की की मां न्याय मांगने के लिए ग्रामीणों के साथ बुधवार को एसपी कार्यालय पहुंची. लेकिन यहां पर भी उन्हें धक्के खाने पड़े और एसपी के गुस्से का शिकार होना पड़ा. जानकारी के मुताबिक एसपी सुधीर सिंह कार्यालय से जा रहे थे तो लड़की के परिवार के साथ पहुंचे एक लड़के ने एसपी की गाड़ी को रोकने की कोशिश की. ताकि अपनी बात उनके सामने रखसकें. लेकिन इस बात को लेकर एसपी नाराज हो गए और अपने वाहन से नीचे उतर कर न्याय मांगने आए लोगों को डांटने लगे। वहीं एसपी ने विरोध कर रहे लड़के को पकड़ लिया और लोगों के सामने ही उसकी पिटाई कर दी. इस दौरान लड़की के घरवालों उसे बचाने की कोशिश की लेकिन एसपी के गुस्से को देखते हुए पीछे हट गए.

पिटाई के बाद अप एसपी दे रहे हैं स्पष्टीकरण

फिलहाल इस मामले में वीडियो वायरल होने के बाद एसपी सुधीर सिंह बैकफुट पर हैं और अब अपनी सफाई दे रहे हैं. वहीं स्पष्टीकरण देते हुए एसपी सुधीर सिंह का कहना है कि जनसुनवाई के दौरान लड़की के परिजनों से मुलाकात हुई थी और एसएचओ को मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया चुका है. जब मैं बाहर निकला तो एक लड़का कार के सामने लेट गया और कुछ लोग पत्थर फेंकने के लिए आगे बढ़े. उनका कहना है कि लड़के को छोड़ दिया गया है.

एसपी के आदेश के बाद दर्ज हुई हत्या और रेप का केस

फिलहाल एसपी के आदेश पर लड़की की मौत के मामले में हत्या और दुष्कर्म की धाराओं के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है. रौनापार थाना प्रभारी अखिलेश चंद पांडेय ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के आदेश पर आरोपी दीपक पासवान के खिलाफ धारा 302, 376, 354, 506 आईपीसी, 3/4 पॉक्सो एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी