उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बर

ऐसा क्या हुआ जब पुलिसकर्मी ने बेजुबानों पर दिखाई दया

लोकेश त्रिपाठी


अमेठी: कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में लाक डाउन है। जिसके चलते लोगों का आवागमन बंद होने से पशु- पक्षियों को भी भुखमरी का सामना करना पड़ रहा है। इनकी तरफ किसी का ध्यान नहीं जा रहा है।

लाक डाउन के चलते जहां जनमानस अपने घरों में रह रहा है वहीँ उनके बाहर न निकलने से उन जानवरों को भी भुखमरी का सामना करना पड़ रहा है जो इंसान पर ही आश्रित थे ।

मुसाफिरखाना के पास स्थित कादूनाला के जंगल में बंदरो का एक बड़ा समुदाय रहता है। जहाँ आवागमन के चलते राहगीर व गाड़ी चालक उनके लिए कुछ न कुछ खाने की चीजें ले जाकर खिलाते रहते थे। लॉक डाउन से आवागमन बंद होने के कारण वहाँ के बन्दर भुखमरी की कगार पर आ गए थे।

जिसको देखकर थानाध्यक्ष मुसाफिरखाना का दिल पसीज गया और फिर इसी के चलते प्रभारी निरीक्षक मुसाफिरखाना कोतवाली अवधेश यादव और अखिलेश सिंह नेवादा खुद को रोक नहीं सके तथा उदारता दिखाते हुए स्वयं खाने की चीजें व फल लेकर लोगों के साथ जंगल में पहुँच कर बंदरों को खिलाया।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button