ताज़ा ख़बरदेश

विंटेज टाइगर मॉथ और हार्वर्ड विमानों ने दिखाया करतब, जानें क्या हैं इन दोनों एयरक्राफ्ट की खासियतें

हर साल आठ अक्टूबर को देश भारतीय वायुसेना दिवस मनाता है. राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करने की दिशा में काम करने वाले संगठन के रूप में भारतीय वायुसेना के बारे में दुनिया भर में जागरूकता बढ़ाने के लिए ये दिन मनाया जाता है. दरअसल, आज ही के दिन भारतीय वायुसेना का गठन किया गया था. इस साल वायुसेना की स्थापना के 89 वर्ष पूरे हुए हैं. इसी दिन 1932 में वायुसेना को आधिकारिक तौर पर ब्रिटेन की रॉयल एयरफोर्स के सहायक बल के रूप में मान्यता दी गई थी.

भारतीय वायुसेना की 89वीं वर्षगांठ के मौके पर गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर हवाई प्रदर्शन किए गए. इन हवाई करतबों में 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध की विजयगाथा को भी दर्शाया गया. इस भारत भारत-पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध के 50 साल पूरे हो रहे हैं. इस वजह से इस बार वायुसेना इसे विजय वर्ष के तौर पर मना रही है. वहीं, वायुसेना की परेड में राफेल से लेकर तेजस विमानों ने लोगों का ध्यान ओर खींचा. लेकिन दो विमान ऐसे रहे, जिन्हें लेकर सबसे ज्यादा चर्चा हुई. ये विमान थे टाइगर मॉथ एयरफ्राफ्ट और हार्वर्ड एयरक्राफ्ट. दोनों ही विमान रिटायर हो चुके हैं, लेकिन इन्हें आज डिप्सले किया गया. ऐसे में आइए इन विमानों के बारे में जाना जाए.

टाइगर मॉथ एयरक्राफ्ट की खासियतें

टाइगर मॉथ (Tiger Moth Aircraft) 1930 के दशक का ब्रिटिश बाइप्लेन है, जिसे जेफ्री डी हैविलैंड द्वारा डिजाइन किया गया और डी हैविलैंड एयरक्राफ्ट कंपनी द्वारा बनाया गया. ये रॉयल एयरफॉर्स और कई अन्य ऑपरेटरों द्वारा प्राइमरी ट्रेनर प्लेन रहा है. टाइगर मॉथ 1940 से ही भारतीय वायुसेना में ट्रेनर विमान था. ये विमान इतना पॉपुलर था कि जल्द ही ये एक बड़ी सफलता बनकर उभरा. टाइगर मॉथ 2.30 घंटे तक लगातार उड़ान भर सकता है और इसकी फ्यूल टैंक की क्षमता 95 लीटर की है. ये विमान 4.5 किमी की अधिकतम ऊंचाई पर उड़ान भर सकता है. अगर बात करें रफ्तार की तो ये विमान 160 नोटिकल माइल प्रति घंटा की रफ्तार तक जा सकता है.

हार्वर्ड एयरक्राफ्ट की खासियतें

हार्वर्ड एयरक्राफ्ट एक अमेरिकी डिजाइन किया गया विमान है जिसे दो सदस्यीय क्रू द्वारा उड़ाया जाता है. इसे 1930 और 40 के दशक में एक लड़ाकू ट्रेनर विमान के तौर पर उड़ाया जाता था. ये विमान 1400 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता था. रेडियल पिस्टन इंजन द्वारा मिलने वाली शक्ति के जरिए ये विमान 156 नोटिकल की अधिकतम गति हासिल कर सकता है. हार्वर्ड आठ घंटे तक लगातार उड़ान भर सकता है और ये 22 हजार फीट की ऊंचाई तक जा सकता है. इस विमान का इस्तेमाल, कनाडा, अमेरिका समेत कई देशों की वायुसेना द्वारा किया गया. हालांकि, अधिकतर ये विमान कॉमनवेल्थ देशों में ही देखने को मिले हैं.

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी