देशबड़ी खबर

आम लोगों पर बढ़े हमले तो घाटी से रवाना हुए प्रवासी, आतंकी संगठन ULF और कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स ने ली कुलगाम हमले की जिम्मेदारी

आतंकी संगठन कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स और यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ने गैर स्थानीय लोगों के खिलाफ धमकी भरा बयान जारी किया है. संगठनों ने कुलगाम हत्याकांड की जिम्मेदारी भी ली है. वहीं आतंकवादियों द्वारा गैर-कश्मीरियों की हत्याओं की हालिया घटनाओं के बाद कश्मीर के श्रीनगर से प्रवासी श्रमिकों का एक समूह रवाना हो गया है.

राजस्थान के एक प्रवासी कहते हैं, यहां स्थिति खराब हो रही है. हम डरे हुए हैं, हमारे साथ बच्चे हैं और इसलिए अपने गृहनगर वापस जा रहे हैं. कुलगाम जिले के वानपोह में आतंकियों ने एक घर में घुसकर वहां रह रहे बिहार के मजदूरों को निकाल दिया. इस हमले में जोगिंदर रेशी देव और राजा रेशी देव मारे गए. चुनचुन रेशी देव गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें अस्पताल ले जाया गया.

परिणाम खतरनाक होंगे

‘कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स’ नाम के संगठन ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए गैर स्थानीय लोगों के भारतीय एजेंसियों के संपर्क में होने की बात कही. केंद्रीय एजेंसियों को चेतावनी भरे लहजे में आतंकी संगठन ने कहा है कि अगर कश्मीर की स्थिति में बदलाव नहीं हुआ और गैर स्थानीय लोगों को यहां बसाया गया तो इसके परिणाम खतरनाक होंगे. वहीं जम्मू-कश्मीर में एक्टिव आतंकी संगठन यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट की तरफ से भी एक चेतावनी जारी की गई है.

गैर स्थानीय लोगों पर बढ़े हमले

ULF ने बयान में कहा कि उसके सदस्यों ने क्षेत्र में तीन गैर-स्थानीय लोगों पर हमला किया. यूएलएफ ने आरोप लगाया कि पिछले एक साल में बिहार में 200 से ज्यादा मुस्लिमों की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. यूएलएफ ने गैर स्थानीय लोगों को एजेंसियों के हाथों की कठपुतली बताते हुए धमकी दी है. इस आतंकी संगठन ने गैर स्थानीय लोगों को कश्मीर छोड़ने के लिए कहा है. ऐसा न करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी है. यूएलएफ ने सुरक्षाबलों के लिए खराब शब्दों का इस्तेमाल किया है. सीआरपीएफ पर यूएलएफ ने गंभीर आरोप लगाए हैं. संगठन की तरफ से धमकी देते हुए कहा गया है कि वो गैर स्थानीय लोगों को निशाना बनाने से चूकेंगे नहीं.

पिछले कुछ हफ्तों में घाटी में कई आतंकी हमले हुए हैं, जहां आम लोगों को आतंकवादियों ने निशाना बनाया है. बिहार के एक गोल-गप्पे विक्रेता अरबिंद कुमार साह की 16 अक्टूबर को हत्या कर दी गई थी. बिहार के एक अन्य गरीब विक्रेता वीरेंद्र पासवान की 5 अक्टूबर को हत्या कर दी गई.

Related Articles

Back to top button
65 साल के बुजुर्ग ने की बच्ची से हैवानियत: बहाने से घर बुलाकर किया रेप, चल भी नहीं पा रही थी मासूम अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 17 से शुरू होगा मुख्य अनुष्ठान, जानिए किस दिन होगा कौन सा पूजन रॉयल एनफील्ड हिमालयन 450 बनाम केटीएम 390 एडवेंचर बनाम बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस: स्पेक्स, कीमत की तुलना देखिए काशी की अद्भुत देव दीपावली: 10 लाख से अधिक पर्यटक पहुंचे, ड्रोन से गंगा घाट की ये तस्वीरें मोह लेंगी